धोबी और गधा की कहानी | Dhobi aur Gadha Panchatantra Story in Hindi

आज हम पढ़ेंगे धोबी और गधा की कहानी। उम्मीद है, आपको यह पसन्द आएगी। और इससे कुछ सीखने मिलेगा। तब चलिए शुरू करते हैं, Dhobi aur Gadha Panchatantra Story in Hindi –


धोबी और गधा की कहानी


धोबी और गधा की कहानी


एक गाँव मे एक रोहन नाम का धोबी रहता था। रोहन बहुत ही चतुर और दूसरों का फायदा उठाने वाला इंसान था। इसलिए उसके दोस्त भी बड़े कम थे।

रोहन धोबी के पास एक गधा था, गधा कुछ महीनों पहले तो बहुत अच्छा और हट्टा कट्टा था, पर कुछ दिन से रोहन का काम न चलने के कारण वह अच्छा खाना नहीं कहा पा रहा था।

ऐसे में वह बड़ा कमजोर हो गया था, इसी कारण अब वह ज्यादा वजन भी उठाने के लायक नहीं रह गया था। ऐसे में रोहन को कपड़ों को शहर में लाने ले जाने के लिए बड़ी परेशनी का सामना करना पड़ता था।

वह कैसे भी अपने गधे को पहले जैसा बनाना चाहता था, ताकि उसे वजन न उठाना पड़े।

एक दिन रोहन धोबी को एक उपाय सुझा, गधे को मोटा और तन्दरुस्त करने का। रोहन के पास एक शेर की खाल पढ़ी हुई थीं, रोहन ने वह खाल अपने गधे को पहनाई, और रात को उसे हरी सब्जियां और घास खाने के लिए गॉव वालों के खेत मे छोड़ दिया।

गांव वालों ने जब रोहन धोबी के गधे को खेत मे घास और सब्जी खाते हुए देखा, तब वे डर के भाग गए, उन्हें लगा, यह असली में कोई शेर है।

कुछ दिन तक तो ऐसा ही चला, लेकिन एक दिन गधा खेत मे घास कहा रहा था, और दूर खड़े गॉव के लोग अपनी फसल और घास को बर्बाद होते हुए देख रहे थे।

अचानक से गधे को एक गधी की आवाज सुनाई दी। गधी की आवाज सुनाई देते ही गधा भी जोर जोर से चिल्लाने लगा।

सारे गाव वालों को पता चल गया कि रोहन का गधा शेर नहीं बल्कि एक गधा है।

सारे गाव वालों ने गधे को मारते मारते अपने खेत से भगा दिया। अगली बार से कभी गधा वहां नज़र नहीं आया।

सीख  | धोबी और गधा – किसी का बुरा नहीं सोचना चाहिए।

Also Read : Best Moral Stories


Conclusion | Dhobi aur Gadha Story in Hindi


आज अपने पढ़ी Dhobi aur Gadha Panchatantra Story in Hindi। आशा है, आपको आज की हमारी धोबी और गधा (Dhobi aur Gadha) पोस्ट पसन्द आयी। अगर आयी तो बताइये जरूर कमैंट्स में।

Leave a Reply

Your email address will not be published.