लालची लोमड़ी कहानी हिंदी | Lalchi Lomdi ki Kahani in Hindi 2021

आज हम पढ़ेंगे लालची लोमड़ी कहानी हिंदी। आशा करते हैं, आपको आज की हमारी यह कहानी पसन्द आएगी Lalchi Lomdi ki Kahani in Hindi-


लालची लोमड़ी कहानी हिंदी


लालची लोमड़ी


एक गांव में एक बहुत ही लालची लोमड़ी रहा करती थी, एक दिन उस लोमड़ी के पास खाने के लिए कुछ भी नहीं था, वह खाने के तलाश में इधर उधर भटक रही थी,

लेकिन बहुत देर तक भी ढूंढने के बाद उसे ओर गाँव मे खाने के लिए कुछ भी नहीं मिल पाया। वह बहुत निराश हुई।

लेकिन उसको भूख बहुत जोर से लगी थी, वह खाना धुनने के लिए शहर की तरह चली गयी, शहर में पहुचकर उसने थोड़ी देर आराम किया,और अपने काम यानी कि खाना धुनने में जुट पड़ी।

शहरमें भी मानो खाने का अकाल पड़ चुका था, वह खाना ढूंढते ढूंढते एक ढाबे के बाहर पहुची, और ढाबे में खाना पाक रहे एक व्यक्ति को ताकने लगी।

वह व्यक्ति समझ गया कि इसे बहुत जोर से भूख लगी है, उसे टोकरी मव से एक रोटी निकाली, और लोमड़ी को दे दी, लोमड़ी वह रोटी पाकर बहुत ज्यादा खुश हो गयी, और रोटी को खाने के जगह उसे चाटने लगी।

कुछ देर तक एओटी को चाटने के बाद लोमड़ी रोटी को मोह में दबोचकर एक तालाब के पास चली गयी,और वहां बैठकर उस रोटी को चाटने लगी।

बहुत देर तक रोटी को चाटने के बाद लोमड़ी को जोर की प्यास लग गयी, वह रोटी मोह में दबाए हुए, तालाब में पानी पीने पहुची। तब उसने देखा, एक और जीव नीचे खड़ा, है, जिसके मोह में भी एक रोटी है।

जो कि खुद उसी की परछाई थी। लोमड़ी को उसे देख बहुत लालच आया, वह उस रोटी को पाने के लिए तालाब में कूद पड़ी।

लोमड़ी के पानी मे कूदने के साथ ही उसकी रोटी पानी में बह गयी,और सारा लालच चूर चूर हो गया। उसे उस दिन भूखा ही सोना पड़ा।


सीख | लालची लोमड़ी – हमे कभी भी लालच नहीं करना चाहिए, अगर लोमड़ी ने लालच न किया होता, तो उसे भूखा नहीं सोना पड़ता।

Also read : Hindi Kahaniyan


Disclaimer | लालची लोमड़ी


आज आपने पढ़ी लालची लोमड़ी कहानी हिंदी। आशा करते हैं, आपको यह कहानी पसन्द आयी। ऐसी ही कहानी पढ़ने के लिए बने रहिए, हमारे साथ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.