शेर का आसन हिंदी मोरल कहानी | Sher ka Aasan Story in Hindi

आज हम पढ़ेंगे शेर का आसन हिंदी मोरल कहानी। आशा है, Sher ka Aasan Story in Hindi कहानी आपको पसन्द आएगी, और आपको इससे बहुत कुछ नायक सीखने को भी मिलेगा।


शेर का आसन


शेर का आसन


एक जंगल मे एक शेर रहता था, जिसका नाम शेरू था। शेर जंगल मे रहने वाले सभी जानवरों को डरा कर रखता था, और सभी पर अपनी धौंस जमाता था। एक दिन शेर जब शहर घूमने गया था,

तब उसने देखा कि शहर का राजा एक हाथी पर सवार होकर कहीं जा रहा था। तब शेर ने सोचा, जैसे वह प्रजा का राजा है, मैं भी यो इस जंगल का राजा हूँ।

मुझे भी हाथी की सवारी करनी चाहिए, और अपने लिए एक आसन रखना चहिये।

फिर क्या था, शेर तुरन्त जंगल गया, और एक सभा बुलाई। और सभा मे यह निर्णय लिया गया, की शेर के लिए भी एक हाथी का आसन बनाया जाएगा, और अबसे शेर केवल हाथी के ऊपर सवार होकर ही घूमेगा। अगले दिन से शेर ने हाथी के ऊपर स्वर होना शुरू कर दिया।

हाथी बहुत ऊंचा था, ऐसे में वह जैसे ही शेर के ऊपर सवार हुआ, वैसे ही कुछ हाथी आगे की ओर बढ़ने लगा। जैसे ही हाथी आगे बढ़ा, शेर का आसन हिल गया, और वह जमीन में धड़ाम से गिर गया। 

शेर की एक टांग में मोच आ गयी, और जैसे ही वह खड़ा हुआ, वैसे ही उसने निर्णय लिया, की वह आज से किसी भी जानवर को अपनी सवारी नहीं बनाएगा। जंगल के जानवर भी इसे सुन बेहद खुश हुए।

Also Read : प्यासे कौवे की कहानी


सीख | शेर का आसन– जिसका काम उसी को साझे। यदि हमें किसी काम को करना नहीं आता है, तो पहले हमे उसे सही से समझना चहिये।


Conclusion


आज अपने पढ़ी शेर का आसन हिंदी कहानी। आशा करते हैं, आपको आज की हमारी Sher ka Aasan Story in Hindi कहानी पसन्द आयी होगी, और इससे कुछ नया सीखने को मिला होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.